Home पशुपालन Animal Husbandry: यूपी के इस जिले की गोशाला में गायों के साथ सांड भी रहेंगे, ये होंगी आधुनिक सुविधाएं
पशुपालन

Animal Husbandry: यूपी के इस जिले की गोशाला में गायों के साथ सांड भी रहेंगे, ये होंगी आधुनिक सुविधाएं

Cowshala, Firozabad News, Cowshala in Firozabad, Bull Cowshala, Firozabad Municipal Corporation, Nagla Pansahay Cowshala
प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली.गायों को तो गोशाला में जगह मिल जाती है लेकिन सांड यानी नंदी सड़कों पर दर-दर भटकते रहते हैं. इन पर न तो शासन की और न ही प्रशासन की नजर रहती है. मरखोर होने की वजह आम लोग भी इनसे दूरी बनाकर रखते हैं.ऐसे में इन्हें कोई आश्रय नहीं मिलता. मगर! अब ऐसा नहीं होगा. उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद जिले में नगर निगम की गोशाला में अब नंदी भी रह सकेंगे. नगर निगम की नगला पानसहाय स्थित निर्माणाधीन गोशाला के कार्य को पूरा करने की प्रक्रिया तेज कर दी गई है. 15 दिन में गौ सेवा के लिए इसे नगर निगम के हवाले कर दिया जाएगा.

यूपी के फिरोजाबाद में नगर निगम की नगला पानसहाय स्थित गोशाला का निर्माण जोरों पर है. निगम के अधिकारियों ने इसे जल्द ही पूरा करने के निर्देश दिए है. 15 दिन में गौ सेवा के लिए इसे नगर निगम के हवाले कर दिया जाएगा. नवीन गौशाला में गायों के अलावा नंदियों को भी आश्रय मिल सकेगा. जबकि अभी तक शहर की किसी भी गोशाला में नंदियों को यह सुविधा उपलब्ध नहीं थी. सांड यानी नंदी सड़क पर भटकते रहते थे. नई गोशाला में ज्यादा गोवंशों को आश्रय मिल सकेगा. इसमें नंदी की सुविधाओं का पूरा ध्यान रखा जाएगा.

डॉक्टर की देखरेख में रहेंगे गोवंश
निगम द्वारा बनवाई जा रही नवीन गोशाला के निर्माण कार्य में करीब 75 लाख की धनराशि खर्च होगी. इस धनराशि में गाय एवं गोवंश की सुविधाओं का पूरा ध्यान रखा जाएगा. गोशाला में बीमार एवं दुर्घटना के शिकार गोवंश के उपचार के लिए नगर निगम के चिकित्सा डॉक्टर संतोष पाल को इसकी जिम्मेदारी सौंप गई है.

500 से अधिक रहेगी क्षमता
गायों के अलावा नंदी को भी आश्रय दिलाने के उद्देश्य से गोशाला की क्षमता में वृद्धि की जा रही है. निर्माणाधीन गोशाला में कुल 500 गाय एवं नंदी एक साथ रह सकेंगे. उनकी संख्या के आधार पर चारे की व्यवस्था के साथ-साथ नांद की व्यवस्था की गई है. दोनों के रहने के लिए अलग-अलग ग्राउंड निश्चित किए हैं ताकि आपस में न लड़ें।

सारी सुविधाएं से लैस होगी ये गोशाला
एक मीडिया हाउस को नगर आयुक्त घनश्याम मीणा ने बताया कि अन्य गोशालाओं की अपेक्षा इस नई गोशाला में क्षमता वृद्धि के अलावा सभी सुविधाओं का पूरा ध्यान रखा जाएगा. नगर निगम के पशु चिकित्साधिकारी डॉ. संतोष पाल का कहना है कि आगामी 15 दिन के अंदर नई गोशाला को तैयार करके नगर निगम के सुपुर्द कर दिया जाएगा.

यह उपलब्ध रहेगी सुविधा
गोशालाओं की अपेक्षा इस नई गोशाला में क्षमता वृद्धि के अलावा सभी सुविधाओं का पूरा ध्यान रखा जाएगा. इस गोशाला में केयर टेकर रूम, चिकित्सक रूम,भूसा घर, चौकर रूम, मौसम के अनुसार हवा, धूप की सुविधा, शुद्ध पानी पीने के लिए सबमरसेबिल की व्यवस्था की गई है.

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Animal husbandry, heat, temperature, severe heat, cow shed, UP government, ponds, dried up ponds,
पशुपालन

Dairy Animal: पशुओं के लिए आवास बनाते समय इन 4 बातों का जरूर रखें ध्यान, क्लिक करके पढ़ें

दुधारू पशुओं को दुहते समय ही अलग दुग्धशाला में बांध कर दुहा...