Home पशुपालन Animal Husbandry: कैसा होना चाहिए भैंस के लिए आवास, पशु को क्या-क्या सहूलियत दें, जानें यहां
पशुपालन

Animal Husbandry: कैसा होना चाहिए भैंस के लिए आवास, पशु को क्या-क्या सहूलियत दें, जानें यहां

mharani buffalo, livestockanimalnews, Buffalo Rearing, Milk Production, Murrah Breed
प्रतीकात्मक तस्वीर: Livestockanimalnews

नई दिल्ली. जानवरों की बेहतर ढंग से देखभाल के लिए उनके आवास प्रबंधन की भी जानकारी पशुपालकों को होना चाहिए. पशुओं को दूध निकालने के समय कुछ छोड़कर पूरे दिन रात खुले बाड़े में खुला रखा जाता है. खुले बाड़े में एक तरफ आश्रय प्रदान किया जाता है, जिसके नीचे जानवर चारा खा सकते हैं. बहुत गर्म, ठंडा होने पर आराम कर सकते हैं. आवास मैनेजमेंट को अधिक प्रभावी बनाने के लिए एक सामान्य तौर पर पानी की टंकी और फीडिंग मैनेजर प्रदान भी किया जाता है.

पारंपरिक आवास प्रणाली की तुलना में ढीली आवास प्रणाली का लाभ है. क्योंकि निर्माण की लागत कम है और आवश्यकता के अनुसार आगे विस्तार भी किया जा सकता है. खुले में जानवरों को सर्वोत्तम व्यायाम मिलता है और इससे जानवरों में गर्मी का आसानी से पता भी लगाने में सुविधा होती है. भारतीय महाद्वीप पारंपरिक पशु शेडों की तुलना में ढीले आवास को प्राथमिकता दी जाती है.

चारे का हो सके तुरंत वितरण
भैंसों के लिए घर के निर्माण के दौरान सुविधाजनक और आर्थिक परिस्थितियों में स्वच्छ दूध उत्पादन के लिए उचित स्वच्छता स्थापित और व्यवस्था के साथ आरामदायक आवास प्रदान करने का ध्यान रखना चाहिए. क्षेत्र की जलवायु भी महत्वपूर्ण है और पशु आवास सुविधा के निर्माण से पहले इस विचार किया जाना चाहिए कि उन्हें अधिक गर्मी या ठंडी मौसम से बचाया जा सके. पूरा शेड तीन तरह से 5 फीट ऊंची दीवार और एक तरफ से नांद से घिरा होना चाहिए. चरा नांद को इस तरह से डिजाइन किया जाना चाहिए कि चारा और चारे का तुरंत उचित वितरण संभव हो सके.

फर्श किस तरह का होना चाहिए
जब जानवर ढके हुए क्षेत्र के नीचे चारा खा रहे हों तो उनका मुंह उत्तर की ओर हो. भीतरी दीवार की जमीन से ऊंचाई व्यस्क भैंसों के लिए 50 सेंटीमीटर छोटे बच्चों के लिए 20 से 25 सेंटीमीटर होनी चाहिए. व्यस्क भैंस और छोटे बच्चों के लिए नांद की गहराई क्रमशः 40-20 सेंटीमीटर से अधिक नहीं होनी चाहिए. छत वाले घर के नीचे नांद के पास 5 फीट चौड़ा बिना फिसलने वाला आसानी से साफ होने वाला थोड़ा ढलान वाला फर्श उपलब्ध कराना चाहिए. नालियां ढके हुए खुले और क्षेत्र की जंक्शन के पास स्थित होनी चाहिए. उससे आगे खुला हुआ कच्चा या पक्का क्षेत्र होगा.

नांद कैसे बनाया जाए
व्यस्क भैंसों के लिए प्रति पशु ढका हुआ खुला हुआ क्षेत्र क्रमश: 40 और 8 से 100 वर्ग फुट और वचनों के लिए 25 20 से 25 से 50 से 60 फुट वर्ग फुट होना चाहिए. चार देने की जगह में प्रति भैंस के लिए ढाई से 3 फीट की नांद की जगह ढके हुए क्षेत्र में बच्चों के लिए डेढ़ फीट की जगह उपलब्ध होनी चाहिए. आश्रय की छत पाइपों और एंगल आईरन पर एस्बेस्टस सेट द्वारा थोड़ी ढलान के साथ बनाई गई अच्छी होती है. एस्बेस्टस या टिन की चादरों की तुलना में छप्पर की छत से प्रारंभिक लागत को कम करने और जानवरों का नाम प्रदान करने में मदद मिलती है. खुला क्षेत्र में एक सामान्य पानी की टंकी प्रदान की जाती ताकि अधिक जानवर को साफ पानी दिया जा सके.

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

PREGNANT COW,PASHUPALAN, ANIMAL HUSBANDRY
पशुपालन

Animal Husbandry: हेल्दी बछड़े के लिए गर्भवती गाय को खिलानी चाहिए ये डाइट

ब आपकी गाय या भैंस गर्भवती है तो उसे पौषक तत्व खिलाएं....

muzaffarnagari sheep weight
पशुपालन

Sheep Farming: गर्भकाल में भेड़ को कितने चारे की होती है जरूरत, यहां पढ़ें डाइट प्लान

इसलिए पौष्टिक तथा पाचक पदार्थो व सन्तुलित खाद्य की नितान्त आवश्यकता होती...