Home पशुपालन Jersey Cow: जर्सी गाय खरीदने से पहले इन बातों का रखें ध्यान, ये भी जानें कैसे तय होती है कीमत
पशुपालन

Jersey Cow: जर्सी गाय खरीदने से पहले इन बातों का रखें ध्यान, ये भी जानें कैसे तय होती है कीमत

livestock animal news
प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली. जर्सी गाय एक ऐसी गाय है जो डेयरी किसानों को खूब पसंद आती है. दरअसल, इस गाय की खूबी ये है कि ये एक ब्यात में 4000 लीटर तक दूध देकर डेयरी कारोबारियों की चांदी करा देती है. इसलिए बहुत से पशु पालक आंख बंद करके जर्सी गाय को खरीदना पसंद सकते हैं, पर एक्सपर्ट कहते हैं कि जर्सी भले ही ज्यादा दूध देती है लेकिन अगर इसके खरीदते समय कुछ अहम बातों पर ध्यान न दिया जाए तो पशुपालक को इसका नुकसान भी हो सकता है.

एक्सपर्ट का कहना है कि पशुपालक हमेशा ही जर्सी गाय को उसकी दूध देने की क्षमता की वजह से खरीदते हैं लेकिन अगर जर्सी गाय में कुछ कमी रही तो दूध उत्पादन कम हो जाएगा. ऐसे में जर्सी गाय खरीदने का फायदा ही क्या होगा. इसलिए जरूरी है कि पशुपालकों को इस गाय के खरीदने से पहले इस आर्टिकल में आगे बताई जा रही है जानकारी के बारे में पता हो. अगर उन्हें पता होगा तो फिर कोई दिक्कत नहीं आएगी और जर्सी गाय से ज्यादा दूध हासिल किया जा सकेगा.

इन बातों के बारे में करें जानकारी
एक्सपर्ट की मानें तो जर्सी गाय खरीदने से पहले गाय के दूध और स्वास्थ्य की जानकारी होनी जरूरी है. पशुपालक को इसके बारे में पूरी तसल्ली से जानकारी कर लेनी चाहिए. अगर स्वास्थ्य खराब है या फिर दूध उत्पादन कम है तो इसे खरीदने का कोई मतलब नहीं है. इसके अलावा गाय की ब्यात क्या है और उसकी उम्र क्या है, ये बातें भी जर्सी गाय खरीदने से पहले पता होनी चाहिए. इसके साथ ही जर्सी गाय के थनों की जांच भी सही तरह से करके ही गाय खरीदनी चाहिए.

इस तरह तय होगी कीमत
जर्सी गाय की कीमत तय करने के लिए सबसे पहले उसका दूध देखें. इसके बाद दूध की मात्रा को 5000 से गुणा कर दें. उदाहरण के तौर पर अगर जर्सी गाय 12 लीटर दूध दे रही है तो 12 गुणा 5000 करें. इसके बाद जो भी कुल रकम निकल कर आए, वह गाय की कीमत हो सकती है, लेकिन गाय की ब्यात अगर दूसरी तीसरी है तो इस रकम में 5000 जोड़ दें और बछड़ी साथ में होने पर 3000 रुपए और जोड़ दें. इस तरह आप जर्सी गाय की कीमत तय कर सकते हैं. वैसे आपको बता दें कि जर्सी नस्ल गाय की सामान्य कीमत 40000 से लेकर 60 हजार के बीच हो सकती है.

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

livestock animal news
पशुपालन

Green Fodder: चारा उत्पादन बढ़ाने के लिए क्या उपाय करने चाहिए, पढ़ें यहां

पशुओं के लिए सालभर हरा चारा मिलता रहे. इसमें कोई कमी न...