Home पशुपालन RAJUVAS में छोटे-बड़े पशुओं के हो सकेंगे डीजीटल एक्स-रे, सोनोग्राफी, डॉयग्नोस्टिक इमेजिंग यूनिट शुरू
पशुपालन

RAJUVAS में छोटे-बड़े पशुओं के हो सकेंगे डीजीटल एक्स-रे, सोनोग्राफी, डॉयग्नोस्टिक इमेजिंग यूनिट शुरू

RAJUVAS.Rajasthan Veterinary and Animal Science College, Diagnostic Imaging Unit
सेंटर का शिलान्यास करते विवि के वीसी व अन्य

नई दिल्ली. राजस्थान पशुचिकित्सा एवं पशु विज्ञान महाविद्यालय, बीकानेर के कैंपस परिसर में गुरूवार को कुलपति प्रो. सतीश के. गर्ग द्वारा डायग्नोस्टिक इमेजिंग यूनिट और सेमिनार हॉल का शिलान्यास किया गया. प्रो. गर्ग ने बताया कि पशुचिकित्सा संकुल बीकानेर के सुद्दढ़ीकरण एवं पशुपालकों को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए विश्वविद्यालय की ओर से काम किए जा रहे हैं. पशु शल्य चिकित्सा एवं विकिरण विभाग में इस डायग्नोस्टिक एवं इमेजिंग यूनिट हॉल के बन जाने से यहां छोटे और बड़े जानवरों में डीजीटल एक्स-रे, सोनोग्राफी के कार्य बेहतर एवं सुविधाजनक हो सकेंगे. इन संसाधनों के विकसित हो जाने से पशुपालकों का उन्नत एवं बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध हो पाएगी. प्रो. गर्ग ने बताया कि महाविद्यालय परिसर में करीब 80 सीटो की क्षमता वाले नए सेमिनार हॉल के बन जाने से कांफ्रेंस, मीटिंग, सेमिनार आदि के सुविधाजनक आयोजन हो पाएगा.इस मौके पर प्रति कुलपति प्रों हेमन्त दाधीच, अधिष्ठाता प्रो. ए.पी. सिह, निदेशक प्रसार शिक्षा प्रो राजेश कुमार धूड़िया, निदेशक पी.एम.ई. प्रो. बसन्त बैस, परीक्षा नियन्त्रक प्रो. उर्मिला पानू, स्टेट ऑफिसर (ई.ओ.) पंकज सोलंकी एवं विश्वविद्यालय के शिक्षक उपस्थित रहे.

पशुबाड़ों को भी रखे साफ, चलाया अभियान
राजस्थान पशु चिकित्सा एवं पशु विज्ञान महाविद्यालय, बीकानेर की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा वेटरनरी विश्वविद्यालय द्वारा यूनिवर्सिटी सोशल रिस्पांसिबिलिटी के तहत गोद लिए ग्राम गाढवाला में गुरूवार को स्वच्छता अभियान चलाया गया. यूनिवर्सिटी सोशल रिस्पांसिबिलिटी के समन्वयक और कार्यक्रम अधिकारी, डॉ. नीरज कुमार शर्मा ने बताया कि ग्राम गाढ़वाला के ब्राह्मणी माता मंदिर चौराहा परिसर में राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों द्वारा स्वच्छता अभियान एवं श्रमदान किया गया तथा ग्राम वासियों के मध्य संदेश दिया गया कि सभी को मिलकर अपने गांव को स्वच्छ एवं सुंदर बनाने में अपना सहयोग करना चाहिए. पशुओं की जगह को भी साफ—सुथरा रखना चाहिए. अगर हम पशुओं के बाड़े को क्लीन रखेंगे तो वे बीमार नहीं होंगे और पशुपालकों को आर्थिक नुकसान झेलना नहीं पड़ेगा. इस अवसर पर प्रसार शिक्षा विभाग के स्नातकोत्तर छात्र विश्वास कुमार और सनी पंकज का भी सहयोग रहा.

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

PREGNANT COW,PASHUPALAN, ANIMAL HUSBANDRY
पशुपालन

Animal Husbandry: हेल्दी बछड़े के लिए गर्भवती गाय को खिलानी चाहिए ये डाइट

ब आपकी गाय या भैंस गर्भवती है तो उसे पौषक तत्व खिलाएं....

muzaffarnagari sheep weight
पशुपालन

Sheep Farming: गर्भकाल में भेड़ को कितने चारे की होती है जरूरत, यहां पढ़ें डाइट प्लान

इसलिए पौष्टिक तथा पाचक पदार्थो व सन्तुलित खाद्य की नितान्त आवश्यकता होती...