Home मीट Meat: एक साल में 331.57 करोड़ मुर्गे खा गए नॉनवेज के शौकीन, जानें सबसे ज्यादा किस राज्य में खाए
मीट

Meat: एक साल में 331.57 करोड़ मुर्गे खा गए नॉनवेज के शौकीन, जानें सबसे ज्यादा किस राज्य में खाए

chicken meat price
पोल्ट्री फार्म की प्रतीकात्मक तस्वीर.

नई दिल्ली. पोल्ट्री को घरेलू मुर्गियों के रूप में डिफाइन किया जाता है. जिसमें मुर्गियां, टर्की, गीज़ और बत्तख आदि शामिल हैं. जिन्हें मीट या अंडे के उत्पादन के लिए पाला जाता है. वैसे देश में सबसे ज्यादा पोल्ट्री का ही मीट खाया जाता है, जिसमेंं भी मुर्गे की खपत ज्यादा होताी है. 2022-23 में ही देशभर में 49.95 लाख टन मुर्गे का मीट खाया गया है. इससे पता चलता है कि देश में चिकन मीट की सबसे ज्यादा डिमांड है और उत्पादन के मामले में भी चिकन पहले स्थान पर है. रही बात कि किन राज्यों में सबसे ज्यादा चिकन खाया गया तो उसमें हरियाणा, महाराष्ट्रा, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और तमिलनाडु का नाम शामिल है.

पोल्ट्री मीट उत्पादन की कितनी हिस्सेदारी
आंकड़ों पर गौर किया जाए तो साल 2021-22 के मुकाबले 25 करोड़ मुर्गे साल 2022-23 में ज्यादा खाए गए हैं. एक आकंड़े के मुताबिक एक साल में 331.57 करोड़ मुर्गे नॉनवेज के शौकीन लोग खा गए हैं. इसे अगर टन में काउंट किया जाए तो 2022-23 में 49.95 लाख टन चिकन की खपत पूरे देश में हुई है. वहीं साल 2021-22 में 47.79 लाख टन चिकन खाया गया था. अब बात की जाए देश में कुल मांस उत्पादन कि तो 2022-23 के दौरान 9.77 मिलियन टन का प्रोडक्शन हुआ था. भारत मीट उत्पादन के मामले में विश्व में 8वें स्थान पर है. जबकि मुर्गीपालन से मीट का उत्पादन 4.995 मिलियन टन किया गया था, जो लगभग 51.14 फीसदी योगदान देश के कुल मीट उत्पादन में देता है.

हरियाणा में सबसे ज्यादा खाए गए मुर्गे
रही बात जिन राज्यों में सबसे ज्यादा चिकन खाया गया तो उसमें हरियाणा का नंबर पहले स्थान पर है. हरियाणवी लोग चिकन के ज्यादा शौकीन नजर आते हैं. यहां 43.76 करोड़ मुर्गे एक साल में खाए गए हैं. वहीं दूसरा नंबर महाराष्ट्र का है. यहां हरियाणा से तकरीबन 3 करोड़ कम 41 करोड़ मुर्गे खाए गए हैं. वहीं Andhra Pradesh में 39 करोड़ मुर्गे की खपत हुई है. तेलंगाना में 34.70 करोड़ और ​तमिलनाडु में 31.40 करोड़ मुर्गे खाए गए हैं. बताते चलें कि खाना पकाने में उपयोग किए जाने वाले चिकन के हिस्से स्तन, टेंडरलॉइन, पीठ, पंख, पैर, ड्रमस्टिक और जांघ खाए जाते हैं. चिकन प्रोटीन के साथ-साथ विटामिन और मिनरल्स से भी भरपूर होता है. मीट में मिनरल्स जैसे, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, फास्फोरस, पोटेशियम, सोडियम, जिंक, कॉपर, मैंगनीज मौजूद होते हैं. इसके अलावा, चिकन विटामिन-बी, ई और के से भी समृद्ध होता है.

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

red meat benefits
मीट

Meat: रेड मीट इंसानों को बीमारी से बचाने में है कारगर, यहां जानें और क्या-क्या फायदे हैं

इन एंटीऑक्सीडेटिव पेप्टाइड्स को बीमारियों की रोकथाम और उम्र बढ़ने से संबंधित...