Home मछली पालन Fisheries: मछुआरों को मछली पकड़ने की तमाम बारीकियां सिखाई गई, जागरुक भी किया
मछली पालन

Fisheries: मछुआरों को मछली पकड़ने की तमाम बारीकियां सिखाई गई, जागरुक भी किया

fisheries in sea
प्रशिक्षण हासिल करते मछुआरे.

नई दिल्ली. एमपीईडी नेटफिश, दक्षिण महाराष्ट्र और गोवा ने पर्स सीन मछली पकड़ने वाले जहाजों के चालक दल के सदस्यों बेहतर ढंग से मछली पकड़ने के तरीकों, सेफ्टी व साफ-सफाई को लेकर वास्को स्थित मछली पकड़ने के घाट पर प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया. एमपीईडी नेटफिश दक्षिण महाराष्ट्र और गोवा की तरफ से ये कोई पहला कार्यक्रम नहीं था, बल्कि अबतक इसी तरह के 25 कार्यक्रम आयोजित किए हैं. वहीं दूसरी ओर एमपीईडीए आरडी कोच्चि ने एमपीईडीए.नेटफिश के सहयोग से एर्नाकुलम जिले के अय्यम्बिली में एससी मछुआरों और मछली श्रमिकों के लिए जैव सुरक्षा और व्यक्तिगत स्वच्छता पर एक दिवसीय जागरूकता प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया है.

ये उपकरण भी वितरित किए गए
वास्को स्थित मछली पकड़ने के घाट पर एक बंदरगाह. पर हुए प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रतिभागियों को व्यक्तिगत स्वच्छता के महत्व, प्रभावी हाथ धोने की तकनीकों के प्रदर्शन और जहाज पर अच्छी स्वच्छता प्रथाओं पर एक व्यापक ब्रीफिंग प्राप्त हुई. इसके अलावा उन्होंने रबर के दस्ताने का उपयोग और प्री.कूलिंग तकनीक सहित स्वच्छ हैंडलिंग विधियां सीखीं. पर्यावरण जागरूकता में समुद्री पर्यावरण पर प्लास्टिक कचरे के प्रतिकूल प्रभावों और समुद्री स्तनधारियों और समुद्री कछुओं के संरक्षण के महत्व पर चर्चा शामिल थी. इसके अलावा चालक दल को वर्ग जाल कोड की महत्वपूर्ण भूमिका के बारे में शिक्षित किया गया था. प्रशिक्षण कार्यक्रमों में 22 लोगों ने भाग लिया था. रबर के हाथ के दस्ताने, डेक की सफाई के लिए ब्रश, तरल साबुन डिस्पेंसर और पाउच जैसी सहायता सामग्री के साथ.साथ मछली पकड़ने के बंदरगाहों में प्रदूषण, मछली की बोर्ड हैंडलिंग, टिकाऊ मछली पकड़ने के लिए चौकोर जाल कॉड सिरे, लैंडिंग केंद्रों पर मछली की हैंडलिंग पर पत्रक वितरित किए गए.

सदस्यों को सम्मानित किया गया
वहीं एर्नाकुलम जिले के अय्यम्बिली में हुए प्रशिक्षण कार्यक्रम में कुझिपिल्ली ग्राम पंचायत अध्यक्ष निबिन के एस संतोष एन के राज्य समन्वयक एमपीईडी, .नेटफिश ने इस अवसर पर मणि एम-एस, एससी एसोसिएशन के सदस्य को सम्मानित किया. जैव सुरक्षा और व्यक्तिगत स्वच्छता पर प्रशिक्षण वर्ग का संचालन श्री द्वारा किया गया. संतोष एन के राज्य समन्वयक एमपीईडी नेटफिश कुमार ओसी, एचडीसी ने कार्यक्रम के संचालन में सहायता की. इस दौरान कार्यक्रम में 30 प्रशिक्षुओं ने भाग लिया था. प्रशिक्षणार्थियों को सहायता सामग्री के रूप में मछली के डिब्बे एवं प्लास्टिक की टोकरियाँ वितरित की गयीं. एससी सोसायटी के कोषाध्यक्ष शिजू वीएन ने सभा का स्वागत किया और कार्यक्रम में कुमार ओसी एचडीसी ने धन्यवाद ज्ञापित किया.

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Interim Budget 2024
मछली पालन

Fisheries: कैसे पता करें मछली बीमार है या हेल्दी, 3 तरीकों से पहचानें

ज्यादातर मामलों में, दो या अधिक कारक जैसे जल की गुणवत्ता एवं...

CIFE will discover new food through scientific method
मछली पालन

Fish Farming: मछलियां फंगल डिसीज से कब होती हैं बीमार, जानें यहां, बीमारी के लक्षण भी पढ़ें

मछली पालन के दौरान होने वाली बीमारियों की जानकारी रहना भी जरूरी...