Home पशुपालन Animal Husbandry: सेक्सड सॉर्टेड सीमन के इस्तेमाल को लेकर हैं ये नियम, यहां 6 प्वाइंट्स में पढ़ें
पशुपालन

Animal Husbandry: सेक्सड सॉर्टेड सीमन के इस्तेमाल को लेकर हैं ये नियम, यहां 6 प्वाइंट्स में पढ़ें

Sahiwal cow, Haryana Government started Animal Husbandry Haryana Livestock Insurance Scheme
प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली. सेक्सड सॉर्टेड सीमन पशु प्रजनन नीति के तहत इस्तेमाल में लाया जाता है. इसका इस्तेमाल करके पशु से मादा बच्चा पैदा कराया जा सकता है. जबकि इसके जरिए 90 फीसदी मामले पॉजिटिव ही आते हैं. यानि सिर्फ 10 परसेंट चांस होता है कि बछिया की जगह बछड़ा पैदा हो जाए. इसलिए इस विधि को ज्यादा कारगार माना जा रहा है. हालांकि अभी ये तकनीक महंगी है और एक बार के सीमन के लिए 1500 रुपये खर्च करना पड़ता है, लेकिन जल्द ही एनडीडीबी कुछ ऐसा कदम उठाएगी जिससे सीमन सिर्फ 300 रुपये में उपलब्ध हो सके.

सेक्सड सार्टेड सीमन का इस्तेमाल भोपाल स्थिति केन्द्रीय वीर्य संस्थान, भदभदा में कियाा जा रहा है. यहां पर तो ये सीमन मात्रा 100 रुपये में उपलब्ध है. आपको बता दें कि इस तकनीक को इस्तेमाल करने के कुछ नियम हैं. मध्य प्रदेश सरकार की ओर से जारी किए गए इन नियमों के बिना इसे इस्तेमाल में नहीं लाया जा सकता है. पशुपालकों के जरूरी है कि इन नियमों को मानें. अगर नहीं मानते हैं तो फिर रिजल्ट में रुकावट आ सकती है. आइए 6 प्वाइंट में नियमों को जानते हैं.

(1) प्रदेश के समस्त जिलों में सेक्सड सॉर्टेड सीमन का इस्तेमाल प्रदेश की पशु प्रजनन नीति के मुताबिक किया जाना है. सेक्सड सॉर्टेड सीमन का इस्तेमाल प्रगतिशील पशुपालकों के पशुओं में किया जा सकेगा.

(2) मैदानी स्तर पर सेक्सड सॉर्टेड सीमन का यूज बहुत कुशल कृत्रिम गर्भाधान कार्यकर्ताओं के द्वारा पशु चिकित्सक के मार्गदर्शन में किया जा सकता है. ताकि Conception rate अधिक से अधिक प्राप्त हो सकें.

(3) पशु संजीवनी एवं NADCP योजना के अंतर्गत प्रदेश के समस्त गौ-भैंसवंशीय प्रजनन योग्य पशुओं में यूआईडी टेग से टेगिंग पूरी हो चुकी है. इसलिये सेक्सड सॉर्टेड सीमन का जिस पशु में एआई के इस्तेमाल में किया जायेगा. उस पशु एवं उससे हासिल बछिया का UID (Unique Identification Number) टैग चिन्हित कर जानकारी इनॉफ सॉफटवेयर पर अपलोड की जायेगी.

(4) हेतु उपयोग सीमन का प्रोडक्शन एवं स्टोरेज केन्द्रीय वीर्य संस्थान, भदभदा भोपाल पर किया गया है तथा जिसका गुणवत्ता परीक्षण प्रमाण पत्र जिलों को प्रदाय किया जायेगा. उक्त सीमन केवल तकनीकी व्यक्ति को ही प्रदाय किया जायेगा.

(5) सेक्सड सॉर्टेड सीमन का गायों एवं भैंसों की तुलना में हीफर्स में उपयोग करने पर गर्भधारण में अधिक सफलता मिलेगी. साथ ही प्रक्षेत्रों पर भी जहां स्टॉल फीडिंग की जाती है, वहां पर सफलता अधिक मिलेगी. सेक्सड सॉर्टेड सीमन के अतंर्गत सामान्य सीमन के एक स्ट्रा में 20 मिलियन के स्थान पर 02 मिलियन शुकाणु (Sperm) ही होते है.

(6) सेक्सड सॉर्टेड सीमन स्ट्राज को तरल नत्रजन से बाहर निकालने के उपरांत निर्धारित तापमान एवं समय पर “थाइंग प्रक्रिया” द्वारा ही सक्रिय किया जायेगा, जिसके कारण सेसेक्सड सॉर्टेड सीमन स्ट्राज की गुणवत्ता प्रभावित नहीं होगी तथा इसका उपयोग तरल नत्रजन में लम्बी अवधि (दशकों) तक संरक्षित करते हुए कृत्रिम गर्भाधान हेतु उपयोग किया जा सकेगा.

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Animal husbandry, heat, temperature, severe heat, cow shed, UP government, ponds, dried up ponds,
पशुपालन

Dairy Animal: पशुओं के लिए आवास बनाते समय इन 4 बातों का जरूर रखें ध्यान, क्लिक करके पढ़ें

दुधारू पशुओं को दुहते समय ही अलग दुग्धशाला में बांध कर दुहा...