Home लेटेस्ट न्यूज चुनाव में भी गूंजने लगा आवारा पशुओं का मुदृा, कहा, बेसहारा गोवंशों से निजात दिलाए सरकार
लेटेस्ट न्यूज

चुनाव में भी गूंजने लगा आवारा पशुओं का मुदृा, कहा, बेसहारा गोवंशों से निजात दिलाए सरकार

Animal husbandry, heat, temperature, severe heat, cow shed, UP government, ponds, dried up ponds,
प्रतीकात्मक तस्वीर.

नई दिल्ली. गांव के किसान इन दिनों आवारा पशुओं से बहुत परेशान हैं. सरकार ने गोवंशों के लिए योजना तो बना दी, लेकिन अनुपालन सही तरह से नहीं हो पा रहा है. दिन-रात गोवंशों से खेती की रखवाली कर रहे हैं. शहर के लोग सड़कों पर घूमने वाले इन जानवरों से परेशान हैं. जब सांड़ लड़ते ही सड़कों पर राहगीर निकलना बंद कर देते हैं. बहुत से लोगों को तो इन आवारा जानवरों ने मौत के घाट तक उतार दिया है. लगातार जानलेवा साबित हो रहे ये जानवर अब ये अब चुनावी मुद्दा भी बनते जा रहे है. लोगों ने कहा कि अब हमें ऐसी सरकार और क्षेत्र का सांसद चाहिए जो इन आवारा जानवरों से निजात दिला सके.

उत्तर प्रदेश के एटा में लोग गोवंशों से इतने परेशान हो गए हैं कि चुनावी मुद्दा तक बन गया है. लोगों ने कहा कि अब हमें ऐसा सांसद चुनना है जो गोवंशों से निजात दिला सके. शहरी क्षेत्र के लोगों का कहना है कि अधिकांश खेत खाली हो चुके हैं. ऐसे में इनजानवरों ने शहर का रुख लिया है. यहां पर बीच सड़क पर ये आवारा जानवर बैठे मिल जाएंगे. कभी भी किसी को मार देते हैं. अब तक एक दर्जन से ज्यादा लोगों को ये आवारा जानवर मार चुके हैं. किसान खेतों में पहुंच रहे तो उन पर हमला कर देते हैं. जब फसल होती है तो दिन रात इन जानवरों से रखवाली करनी पड़ती है. सरकारों ने इन पशुओं को संरक्षित करने के लिए योजना तो बना दी है, लेकिन इनका पालन सही से नहीं हो रहा है. इस योजना का पालन सही से होना चाहिए, जिससे फसलों का नुकसान न सके.

किसान रातभर जागकर करता है खेतों की रखवाली
लोगों ने कहा कि केंद्र सरकार को आवारा पशुओं का कुछ इंतजाम करना चाहिए. सांसद ऐसा हो जो लोगों की बात को सुने और गोवंशों का कुछ इंतजाम कर सके. सांसद को किसानों की हर समस्याओं का पता होना चाहिए. क्षेत्र के किसान सबसे ज्यादा गोवंशों से परेशान हैं. खेती को बर्बाद कर देते हैं. पूरी-पूरी रात रखवाली करनी पड़ती है. बार-बार शिकायत करने के बाद भी न प्रशासन कोई सुनवाई करता है और नही जनप्रतिनिधि. इसलिए चुनाव से पहले प्रत्याशी हमें ये भरोसा दिलाएं कि जीतने के बाद आवारा पशुओं की समस्या से निजात दिलाएंगे.

पशुओं के लिए और बनें गोशाला
किसान राजेंद्र सिंह ने कहा कि गांव का किसान बहुत परेशान है. दिन-रात किसान खेतों पर रखवाली करता है. इसके बाद भी गोवंश आकर नुकसान कर देते हैं. खेती करने वालों की कोई पीड़ा नहीं जानता. रात को भी किसान सो नहीं पाता है. इसलिए हमें ऐसा सांसद चुनना चाहिए जो किसानों की समस्या का समाधान कर सके.किसान मान पाल सिंह ने कहा कि सरकार जो नीतियां लागू करती है उनके अनुपालन के लिए भी अधिकारियों से जबाव लिया जाए. आज गांव का जो किसान है वह इसीलिए परेशान है कि आवारा जानवर उनकी पूरी फसल को ही नष्ट कर देते हैं. गोवंशों को गोशाला तक नहीं पहुंचाया जा रहा है.

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Ramsar Site, Samaan Bird Sanctuary, Migratory Birds, Mainpuri News, Samaan Bird Sanctuary in Kishni
लेटेस्ट न्यूज

Ramsar Site में शामिल समान पक्षी विहार की सूख रही झील , पशु-पक्षी और जंगली जानवर प्यासे

उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले की किशनी में समान पक्षी विहार की...

Wildlife SOS, My Sweet Paro, Suzy elephant, Mahout Baburam, Blind elephant,
लेटेस्ट न्यूज

‘माई स्वीट पारो’: जब हुआ बूढ़ी नेत्रहीन हथिनी और उसकी देखभाल करने वाले महावत में प्यार

74 साल की उम्र में, सूज़ी-एक मादा हथिनी–वाइल्डलाइफ एसओएस की देखरेख में...

IGNOU, Indira Gandhi National Open University, Post Graduate Diploma in Animal Welfare, PGDAW,
careerलेटेस्ट न्यूज

IGNOU से इस कोर्स को कर लिया तो पुशचिकित्सा क्षेत्र में झट से लग जाएगी नौकरी, जानिए पूरी डिटेल

भारत के प्रमुख दूरस्थ शिक्षा संस्थान इग्नू ने पशु कल्याण में स्नातकोत्तर...