Home Blog Pets: सर्दियों में कुत्तों को क्यों नहीं देना चाहिए किशमिश, ठंड से बचाए रखने के लिए ये टिप्स फॉलो करें
Blog

Pets: सर्दियों में कुत्तों को क्यों नहीं देना चाहिए किशमिश, ठंड से बचाए रखने के लिए ये टिप्स फॉलो करें

pet dog doctor
कुत्ते की प्रतीकात्मक तस्वीर.

नई दिल्ली. सर्द मौसम में जहां सभी पशुओं को ज्यादा देखभाल की जरूरत होती है, तो वहीं पालतू कुत्तों को भी विशेष देखभाल की आवश्यकता होती है. दरअसल, पर्यावरण का कम तापमान उनके स्वास्थ्य पर नकारात्मक असर डालता है. गुरु अंगद देव पशु चिकित्सा एवं पशु विज्ञान विश्वविद्यालय लुधियाना के विशेषज्ञों ने कुत्तों को ज्यादा ठंड के दुष्प्रभाव से बचाने के मकसद के तहत निवारण रणनीतियां शेयर की हैं. सर्दियों में अपने कुत्तों को लंबे समय तक बाहर न छोड़ने के लिए कहा गया है. हमेशा सुबह या देर शाम के समय कुत्तों के साथ घूमने से बचने की कोशिश करने की बात भी कही है. वहीं उन्होंने अपने सुझाव में कहा है कि तापमान गंभीर सीमा से नीचे होता है तो कुत्ते अपने शरीर के तापमान को बनाए नहीं रख पाते हैं. इस वजह से हाइपोथर्मिया से पीड़ित हो जाते हैं. क्योंकि पिल्ले और बूढ़े कुत्ते के शरीर की तापमान को बनाएं रखने की क्षमता भी कम होती है.

ये करें और इससे बचे
एक्सपर्ट कहते हैं कि अमोनिया का स्तर और शीट ड्राफ्ट आद्रता 30 से 40 फ़ीसदी के बीच न्यूनतम करने के लिए वेंटिलेशन पर्याप्त होना चाहिए. जानवरों की उम्र, बालों का कोट और समग्र स्वास्थ्य स्थिति सभी कुत्तों की ठंड की मौसम की प्रति संवेदनशीलता को निर्धारित करते हैं. आपके कुत्ते को आपके घर में अच्छे कालीन या गर्म स्थान पर रखें. जलने से बचाने के लिए अपने पालतू जानवरों को गर्मी के स्रोतों के बहुत करीब ना रखें. सभी हीटरों और लैंपों को उनकी पहुंच से दूर रखें. अपने पालतू जानवरों को सुरक्षित करने के लिए कमरों में ढके हुए तापमान स्रोतों का उपयोग करें. शराब और चॉकलेट से बचें क्योंकि थोड़ी मात्रा में एक कुत्तों के लिए जहरीले होते हैं.

तो फेल हो सकती है किडनी
ठंड के दौरान कुत्तों के नियमित रूप से तैयार करें. ताकि उन्हें ठीक से गर्म रखा जा सके. दिन में काम से कम दो बार सवांरें और पखवाड़े से पहले नहलाने से बचाएं. पतले और कम बालों वाले कुत्तों में खुद को गर्म रखने की क्षमता कम होती है और वह तापमान को अच्छी तरह से सहन नहीं कर पाते. सर्दियों में कुत्ते की त्वचा तक की शेविंग करने से बचाना बेहतर है. कुत्तों को भरपूर मात्रा में ताजा गुनगुना पानी उपलब्ध कराना चाहिए. कुछ लोग सर्दियों के महीने के दौरान कुत्तों के किशमिश देना पसंद करते हैं. जिससे किडनी फेल हो सकती है. इसलिए किशमिश देने से पहरेज करना चाहिए. कुत्ते के व्यायाम के लिए नियम जरूर बनाएं. विशेषतौर उन्हें गर्म रखें. यदि कोई और संधिग्ध लक्षण दिखाई दे तो पशु चिकित्सा के पास ले जाएं.

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Training in Central Bird Research Institute, Poultry Farm, Poultry Farming, Turkey Farming
Blogपोल्ट्री

अगर आप भी टर्की, बटेर पालन की लेना चाहते हैं ट्रेनिंग तो कर दें यहां अप्लाई, जानिए पूरी प्रक्रिया

केंद्रीय पक्षी अनसुंधान संस्थान, इज्जतनगर, बरेली एक राष्ट्रीय स्तर का संस्थान है,...

langda bukhar kya hota hai
Blog

Dairy: गंदरबल, कश्मीर के पशुपालकों को मिली बड़ी सौगात, पढ़ें डिटेल

गांदरबल जिले की तहसील तुलमुल्ला के एस्टेट देवीपोरा में स्थित 22 कनाल...

Elephant Rescue Centre, blind Elephant suzy
Blogपशुपालन

Wildlife SOS: सर्कस से बचाकर लाई नेत्रहीन सूज़ी ने पूरे किए 74 वर्ष, 60 साल कैद में रहकर झेली प्रताणना

वाइल्डलाइफ एसओएस द्वारा संचालित हाथी संरक्षण और देखभाल केंद्र (ईसीसीसी) में 74...

buffalo meat, Availability Of Meat Per Capita, Meat Export, Meat Product, MEAT PRODUCTION
Blog

Buffalo Meat: अगर इन रणनीतियों को अपनाया जाए तो बफैलो मीट बिजनेस होगा बूस्ट

रिसर्च का फोकस क्षेत्र भैंस के मांस के कम लागत वाले तैयार...