Home लेटेस्ट न्यूज Kisan Andolan: राशन-पानी पंखा लेकर शंभू बार्डर पर जुट रहे हैं किसान, 23 मार्च को होगी बड़ी पंचायत
लेटेस्ट न्यूज

Kisan Andolan: राशन-पानी पंखा लेकर शंभू बार्डर पर जुट रहे हैं किसान, 23 मार्च को होगी बड़ी पंचायत

kisan Andolon
शंभू बार्डर पर प्रदर्शन करने के लिए जाते स्टेशन.

नई दिल्ली. हर तरह की फसलों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी कानून बनाने समय तमाम मांगों को लेकर किसान 13 फरवरी से आंदोलन कर रहे हैं. किसानों को आंदोलन करते हुए अब तक 38 दिन हो गए हैं. अब किसान पंजाब हरियाणा के शंभू बॉर्डर पर भी भारी संख्या में जुट रहे हैं. 23 मार्च को शहीदी दिवस के मौके पर बड़ी पंचायत का आयोजन करने की बात कही जा रही है. जानकारी के मुताबिक यहां पंजाब से कई दिनों से किसान आ रहे हैं और अपने साथ राशन पंखा समेत अन्य जरूरी सामान भी लेकर आ रहे हैं.

इसके बाद 31 मार्च तक किस संगठन पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान में शांतिपूर्ण सभाएं करने की बात कह रहे हैं. जबकि 23 मार्च को शंभू बॉर्डर पर होने वाली बड़ी सभा में शामिल होने के लिए बड़ी संख्या में पंजाब के जिले से किसान अमृतसर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन से जब पहुंचे हैं. बॉर्डर पर पहुंच रहे किसान गर्मी के लिए पंखा और 10 दिन का राशन समेत अन्य सामान लेकर आए हैं.

जब तक मांग पूरी नहीं होगी संर्घष जारी रहेगी
शंभू बॉर्डर के लिए रवाना हो रहे किसानों ने बताया कि अभी गर्मी से उन्हें पंखों की जरूरत पड़ेगी. इसके साथ ही उन्होंने जरूरत का सारा सामान ले लिया है. किसान नेताओं और महिला किसानों का कहना है कि संघर्ष लंबा चलेगा. जब तक उनकी मांगे पूरी नही हो जाती संघर्ष जारी रहेगा. संयुक्त किसान मोर्चा के नेता जगजीत सिंह डल्लेवाल ने बताया कि 23 मार्च को भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव का शहीदी दिवस है. इसी दिन सभा का आयोजन किया जाएगा. साथ ही सभी धरना स्थलों पर नौजवानों और किसान शहीदों का श्रद्धासुमन अर्पित करेंगे. उन्होंने किसानों मजदूरों समेत अन्य लोगों से इन स्थलों में पहुंचने की अपील की.

साथ में चल रही ​अस्थि कलश यात्रा
चंडीगढ़ में किसानों की सभा में मंगलवार शाम को किसान नेता जगजीत सिंह डल्लेवाल ने कहा कि 21 तारीख को शुभकरण शहीद हुआ था. उसकी अस्थि कलश यात्रा चल रही है. उन्होंने कहा कि हरियाणा में हिसार और अंबाला जिले में 22 मार्च 31 मार्च को बड़ी सभा होगी. यूपी में संभल अलीगढ़ और सहारनपुर में बड़े किसान पंचायत की जाएगी. राजस्थान में भी किसानों की यात्रा चल रही है. 31 मार्च तक वहां भी बड़ी सभा का आयोजन होगा. पंजाब मजदूर संघर्ष समिति की महासचिव सरवन सिंह पंढेर ने कहा कि किसानों की मांगों और उनके आंदोलन को देश के नामचीन पहलवान बजरंग पूनिया और साक्षी मलिक ने भी समर्थन दिया है. किसान नेता ने कहा कि बजरंग पूनिया 23 मार्च को होने वाले किसानों की सभा में शामिल होंगे.

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

NABARD, Rural Development Bank, Loans, Loans for Industries, Functions of NABARD
लेटेस्ट न्यूज

Nabard: जानें पशुपालकों को सीधे लोन देने के बारे में क्या बोली नॉबार्ड, पढ़ें डिटेल

शुपालन, मत्सय पालन, मुर्गी पालन आदि सेक्टर में ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों...

Wildlife SOS, Shivalik Forest, Leopard NGO, Leopard
लेटेस्ट न्यूज

Wildlife SOS: घायल तेंदुए को उपचार के बाद शिवालिक के जंगल में ही क्यों छोड़ा, जानिए वजह

एक सफल ऑपरेशन में उत्तर प्रदेश के शिवालिक क्षेत्र में तेंदुए के...