Home career IVRI: देश की इस वेटरनरी यूनिवर्सिटी का हिस्सा बने 38 छात्र, पढ़ें डिटेल
career

IVRI: देश की इस वेटरनरी यूनिवर्सिटी का हिस्सा बने 38 छात्र, पढ़ें डिटेल

Indian Veterinary Research Institute, IVRI, Admission in IVRI
संस्थान में नवागत विद्यार्थियों का स्वागत किया गया.

नई दिल्ली.आईवीआरआई के जीवाणु एवं कवक विज्ञानं विभाग ने वर्ष 2024 में वेटनरी माइक्रोबायोलॉजी में प्रवेश लेने वाले नवागंतुक एमवीएससी एवं पीएचडी छात्र और छात्राओं का फ्रेशर्स पार्टी आयोजित कर स्वागत किया. आईवीआरआई में शैक्षणिक वर्ष 2023-2024 में पूरे देश से छात्र और छात्राओं ने विभिन विभागों में एमवीएससी एवं पीएचडी में प्रवेश लिया हैं. करीब 38 छात्र-छात्राओं ने वेटनरी माइक्रोबायोलॉजी में अपनी सीट सुरक्षित की है, जिसमे 25 विद्यार्थियों ने एमवीएससी एवं 13 विद्यार्थियों ने पीएचडी में दाखिला लिया है. वेटनरी माइक्रोबायोलॉजी के इज्जतनगर परिसर में कार्यरत सभी संकाय सदस्य एवं वरिष्ठ एमवीएससी एवं पीएचडी विद्यार्थियों ने नए विद्यार्थियों का पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया. वेटनरी माइक्रोबायोलॉजी में वर्ष 2024 में प्रवेश लेने छात्र-छात्राओं ने सबसे पहले अपना संक्षिप्त परिचय दिया. इसके बाद सीनियर छात्रों ने अपना परिचय एवं अपने शोध कार्य के बारे में बताया.

आईवीआरआई में शैक्षणिक वर्ष 2023-2024 में पूरे देश से छात्र और छात्राओं ने विभिन विभागों में एमवीएससी एवं पीएचडी में प्रवेश लिया हैं.
इस अवसर पर संस्थान में क्षेत्रीय परिसरों में एवं आईसीएआर के विभिन संस्थानों में कार्यरत वेटनरी माइक्रोबायोलॉजी के संकाय सदस्यों की एक संक्षिप्त रूपरेखा भी प्रस्तुत की गई, जिससे नए विद्यार्थियों को भविष्य में अपने शोध कार्य को तय करने एवं उसके अनुसार शोध सलाहकार चुनने में मदद मिल सकेगी.

आईवीआरआई की ब्रांड वैल्यू को समझें
केंद्रीय पक्षी अनुसन्धान के निदेशक डॉक्टर एके तिवारी, संकाय सदस्य ने सभा को संबोधित करते हुआ कहा की आईवीआरआई में प्रवेश लेना एक गर्व की बात है. उन्होने सभी विद्यार्थियों से आग्रह किया की वो आईवीआरआई की ब्रांड वैल्यू को समझे और कड़ी मेहनत एवं लगन से अपनी पढ़ाई पूरी कर शोध में उतकृष्ट कार्य कर आईवीआरआई का सम्मान बढ़ाएं. डॉक्टर पी दंडपट, अध्यक्ष , बोर्ड ऑफ़ स्टडीज ने विद्यार्थियों को जीवाणु एवं कवक विज्ञान एवं आईवीआरआई में वेटनरी माइक्रोबायोलॉजी की महत्ता एवं योगदान के बारे में विस्तार से बताया.

कार्यक्रम में इनकी रही मौजूदगी
इस अवसर पर वेटनरी माइक्रोबायोलॉजी के अन्य संकाय सदस्य डॉक्टर एस दंडपत, डॉक्टर पी धर, डॉक्टर रविकांत अग्रवाल, डॉक्टर वीके चतुर्वेदी, डॉक्टर एस नंदी, डॉक्टर राजेश राठौर, डॉक्टर बबलू कुमार, डॉक्टर सलुद्दीन कुरैशी, डॉक्टर कौशल किशोर रजक, डॉक्टर आर सरवनन, डॉक्टर संचय कुमार बिस्वास, डॉक्टर विक्रमादित्य उपमन्यु, डॉक्टर मिथिलेश सिंह, डॉक्टर अभिषेक, डॉक्टर प्रसाद थॉमस, डॉक्टर गौरव कुमार शर्मा, डॉक्टर सोनालिका महाजन, डॉक्टर श्यामा लतीफ, एवं डॉक्टर डॉ अजय कुमार यादव उपस्थिति रहे.

कार्यक्रम में इनका रहा सहयोग
कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ पीएचडी छात्रा डॉक्टर मृणालिनी सैनी ने किया. अन्य पी एच डी छात्र डॉ शांतनु पल, डॉक्टर लक्ष्मी प्रकाशन, डॉक्टर सुधीर कुमार प्रजापति एवं डॉक्टर लोकेश्वरी रेड्डी ने सहयोग दिया. एमवीएससी सेकंड ईयर छात्रा डॉक्टर शालिनी गंगवार ने धन्यवाद ज्ञापित किया. कार्यक्रम को आयोजित करने में डॉक्टर अभिषेक, डॉक्टर प्रसाद थॉमस, एवं डॉक्टर पी दंडपत अध्यक्ष , बोर्ड ऑफ़ स्टडीज, वेटनरी माइक्रोबायोलॉजी की देखरेख में हुआ.

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

IGNOU, Indira Gandhi National Open University, Post Graduate Diploma in Animal Welfare, PGDAW,
careerलेटेस्ट न्यूज

IGNOU से इस कोर्स को कर लिया तो पुशचिकित्सा क्षेत्र में झट से लग जाएगी नौकरी, जानिए पूरी डिटेल

भारत के प्रमुख दूरस्थ शिक्षा संस्थान इग्नू ने पशु कल्याण में स्नातकोत्तर...

livestock animal news
career

World Veterinary Day: पशु चिकित्सा में है कॅरियर की बहुत संभानाएं, पढ़ें कैसे बना सकते हैं ‘फ्यूचर’

ऐसा कोई राज्य नहीं है जहां पशुपालन से ज्यादातर किसान न जुड़े...

PAU, Punjab Agricultural University, PAU News
career

PAU जून में आयोजित करेगा एंट्रेस एग्जाम, इस तारीख तक ऑनलाइन करना होगा आवेदन

सलाह दी कि इच्छुक उम्मीदवार विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर जाकर पात्रता मानदंड,...